भूगोल

ALS संस्थान में भूगोल विषय का अध्यापन भारत भर में अपनी शिक्षण पद्धति की श्रेष्ठता के लिए जाना जाता है। यह संस्थान में उपलब्ध लोकप्रिय विषयों में से एक है। पिछले दो दशकों से इस विषय को सिविल सेवा परीक्षा हेतु वैकल्पिक विषय के रूप में परिमार्जित किया गया है। पाठ्यक्रम की सामग्री को सावधानीपूर्वक इस प्रकार तैयार किया गया है कि भूगोल को विषय के रूप में न पढ़ने वाले छात्र भी इसे अच्छी तरह समझ सके तथा इस पर अपनी पकड़ बना सके। भूगोल का पाठ्यक्रम एक अन्तर्विषयक (Interdisciplinary) पाठ्यक्रम है जिसमें अभ्यर्थी का प्रदर्शन ऐसे मुद्दों से निष्कर्ष निकालने पर निर्भर करता है जो सामान्य जीवन के अनुभव में आते हैं तथा जिनसे हम अनजान होते हैं। पाठ्यक्रम को इस प्रकार डिजाइन किया गया है जिससे त्वरित सीखने में वृद्धि हो तथा छात्र न केवल भूगोल में विशेषज्ञता प्राप्त कर सके बल्कि स्वयं के संबंध में भी विशेषज्ञ हो सके।

भूगोल विषय की लोकप्रियता का आधार

  • उच्चतम रैंक के साथ-साथ अधिकतम सफल अभ्यर्थी।
  • प्रारंभिक परीक्षा के सामान्य अध्ययन प्रश्न-पत्र में अधिकतम प्रश्न (लगभग 30-35)।
  • मुख्य परीक्षा के प्रथम प्रश्न-पत्र में 125 से 130 अंकों का सीधा योगदान।
  • मुख्य परीक्षा के तृतीय पेपर में आर्थिक विकास, पर्यावरण एवं आपदा प्रबंधन से न्यूनतम 110 से 120 अंकों का योगदान।
  • निबंध प्रश्न-पत्र में भौगोलिक एवं पर्यावरणीय मुद्दों पर आधारित निबंध।
  • इस प्रकार वैकल्पिक विषय के रूप में 500 अंक, सामान्य अध्ययन के लगभग 250 अंक तथा निबंध प्रश्न-पत्र के 250 अंकों के साथ लगभग 1000 अंकों का योगदान देने वाला विषय।
  • भूगोल विषय के पाठ्यक्रम का लगभग 75 प्रतिशत टाँपिक प्रत्यक्ष तथा परोक्ष रूप से सामान्य अध्ययन से संबंधित है। जैसे पर्यावरण एवं पारिस्थितिकी, आपदा प्रबंधन, आर्थिक एवं सामाजिक विकास, नगरीकरण, जनसंख्या एवं जनांकिकीय मुद्दे आदि।
  • मानचित्र आधारित प्रश्नों का सीधा फायदा जो कि अन्य विषयों को प्राप्त नहीं है।
  • संघ लोक सेवा आयोग तथा राज्य लोक सेवा आयोग की परीक्षाओं में सबसे लोकप्रिय व सफलता निर्धारक विषय।
  • विषय का वैज्ञानिक तथा प्रायोगिक प्रकृति का होना भी इसकी लोकप्रियता की प्रमुख विशेषता है।

कार्यक्रम की विस्तृत जानकारी (Programme Details)

  • ALS संस्थान में IAS मुख्य परीक्षा हेतु एकीकृत भूगोल शिक्षण कार्यक्रम (Integrated Geography Learning Programme-IGLP) उपलब्ध है। मुख्य परीक्षा के लिए डिजाइन किया गया यह 20 सप्ताह की अवधि का कार्यक्रम है।
  • एकीकृत भूगोल शिक्षण कार्यक्रम (IGLP) के अंतर्गत प्रत्येक व्याख्या तीन घंटों का होता है। संपूर्ण कार्यक्रम के दौरान कुछ अवकाशों के साथ कक्षाएं सप्ताह के सभी दिन आयोजित की जाती हैं। ऐसे अवकाशों (Breaks) का उद्देश्य असाइनमेंट (Assignment) पूर्ण करने, दोहराने तथा याद रखने के लिए छात्रों को समय देना है। कोर्स हेतु पंजीकरण, टाइम-टेबल तथा शुरू होने की तिथि के लिए छात्रों को समय देना है।

विशिष्ट तकनीकी (Unique Technology)

  • इस कार्यक्रम में प्रयुक्त की जाने वाली तकनीकी का विकास कुछ महत्वपूर्ण प्रभावी विधियों का प्रयोग करके पिछले 20 वर्षों के दौरान किया गया है। यह तकनीकी छात्रों में सृजनात्मकता बढ़ाने में सहयोग करती है तथा कम प्रयास में सीखने को बढ़ावा देती है। यह तकनीकी पार्श्वीय चिन्तन (Lateral Thinking) की अवधारणा पर आधारित है तथा इसकी महत्वपूर्ण पद्धतियों में ब्रेन स्टॉर्मिंग (Brain Storming), स्नोबालिंग (Snow Balling), सामूहिक अध्ययन आदि शामिल हैं। यह सामूहिक गत्यात्मकता सीखने की प्रक्रिया को बढ़ावा देती है तथा छात्रों के उच्च प्रदर्शन को सुनिश्चित करती है।

अध्ययन सामग्री (Study Material)

  • कार्यक्रम के अंतर्गत कक्षा व्याख्यान के साथ-साथ विशेष रूप से तैयार की गई अध्ययन सामग्री उपलब्ध कराई जाती है जिसका उद्देश्य छात्रों में विषय की समझ उत्पन्न करना तथा उनमें विश्लेषण की क्षमता का विकास करना है। यह अध्ययन सामग्री मुख्य रूप से व्याख्यान हेतु डिजाइन की गई है तथा इस सामग्री को पाठ्यक्रम शिक्षण में प्रयुक्त की जाने वाली मानक पुस्तकों की सहायता से तैयार किया गया है।

नियमित क्लास टेस्ट (Frequent Class Tests)

  • शिक्षण कार्यक्रम की प्रभावशीलता तथा छात्रों में विषय की समझ को परखने हेतु नियमित क्लास टेस्ट का आयोजन किया जाता है। छात्रों में विषय की व्यापक समझ को सुनिश्चित करने तथा उनकी अध्ययन प्रगति को परखने हेतु नियमित अंतराल पर स्वमूल्यांकन।
  • मुख्य परीक्षा हेतु प्रत्येक सप्ताह सीमित अवधि का वर्णनात्मक टेस्ट भी संचालित किया जाता है। तत्पश्चात् उनका व्यापक विश्लेषण, मूल्यांकन तथा फीडबैक उपलब्ध कराया जाता है। कार्यक्रम के दौरान टॉपिक से संबंधित टेस्ट भी वास्तविक परीक्षा परिस्थितियों के अनुरूप संचालित किए जाते हैं।

वैज्ञानिक मानचित्रण तकनीक (Scientific Map Technique)

  • भूगोल के छात्रों हेतु मानचित्रण अत्यन्त अनिवार्य है। मानचित्रण विषय सामग्री की समझ, विश्लेषण तथा प्रभावी प्रस्तुतीकरण हेतु अत्यंत महत्वपूर्ण है। इससे अध्ययन कार्य में तीव्रता तथा रोचकता आती है। पिछले वर्षों के दौरान ALS ने मानचित्रण हेतु अनेक वैज्ञानिक तकनीकों को विकसित किया है। इन तकनीकों के प्रयोग से छात्र परीक्षा में कम समय में असाधारण प्रदर्शन कर सकते हैं।

शत-प्रतिशत सहभागिता (100% Partnership)

  • ALS में छात्र-अध्यापक के बीच शत-प्रतिशत सहभागिता के सिद्धांत के अनुरूप शिक्षण कार्य होता है जिसमें दोनों सहभागी अपना सर्वोत्तम प्रयास करते हैं। इस संबंध का ही यह परिणाम है कि परीक्षा परिणामों में उच्च सफलता दर रही है। ALS में छात्रों को इस प्रकार प्रशिक्षित किया जाता है कि वे अपने सीखने तथा विकसित होने का उत्तरदायित्व स्वयं लेते हैं तथा शिक्षक मार्गदर्शक एवं सहायक की भूमिका निभाते हैं

आर्टिकल एनालिसिस

Foto

रिजल्ट

प्रतिवर्ष लगातार 20» से भी अधिक रिजल्ट, विगत 18 वर्षों में 2683$ अभ्यर्थियों का चयन
Foto

अध्ययन सामग्री

कुशलतापूर्वक तैयार की गई अत्यधिक उपयोगी अध्ययन सामग्री, 25$ प्रिंटेड बुकलेट
Foto

शंका समाधान सत्रा

अभ्यर्थियों की शंका के समाधान हेतु नियमित अन्तराल पर विशेष कक्षाओं का आयोजन
Foto

साप्ताहिक समसामयिक घटनाक्रम

अभ्यर्थियों को समकालीन ;करेंटद्ध घटनाओं से अवगत रखने हेतु साप्ताहिक करेंट अपफेयर्स की कक्षाएं, टेस्ट एवं समसामयिकी बुकलेट व विज़्ाार्ड पत्रिका
Foto

लेखन कौशल विकास

उत्तर लेखन के सभी पक्षों से परिचित कराने हेतु विशिष्ट लेखन कौशल विकास पर आधारित कक्षाएं नियमित टेस्ट एवं गृह कार्य के माध्यम से भी उत्तर लेखन अभ्यास
Foto

स्टूडेंट पोर्टल

क्लासरूम के अतिरिक्त विशिष्ट तकनीकी पर आधारित स्टूडेंट पोर्टल के माध्यम से अतिरिक्त एवं रोचक सहायता
Foto

अन्य विशिष्टताएं

एक छत के नीचे अध्ययन कक्ष, लाइब्रेरी तथा कैपफेटेरिया से सुसज्जित सर्वश्रेष्ठ कैम्पस
Foto

पाठ्यक्रम रूपरेखा

सतर्कतापूर्वक डिजाइन किए गये कोर्स प्लानर के अनुरूप पाठ्यक्रम का व्यवस्थित एवं समय से समापन
Foto

कक्षा परीक्षण

आत्म-अनुशासन, आत्म-मूल्यांकन तथा रचनात्मक तुलना को समाहित करते हुए न्च्ैब् के अनुरूप नियमित कक्षा परीक्षण साथ ही मूल्यांकन, पिफडबैक एवं माॅडल उत्तर
Foto

सुसज्जित क्लासरूम

रचनात्मक शिक्षण हेतु अल्ट्रामाॅडर्न आडियो-विजुअल तकनीकी से सुसज्जित शानदार एम्पीथियेटर शैली के क्लासरूम